गिर गाय की नस्ल कर देंगी मालामाल, देती है एक दिन में लगभग 50 लीटर दूध

0
gir gay news

गिर गाय की नस्ल कर देंगी मालामाल, देती है एक दिन में लगभग 50 लीटर दूध। दुनिया भर में दूध से बने उत्पादों का काफी मांग रहती है, ऐसे में पशु पालक और डेरी फार्मिंग करने वाले लोग उन नस्लों का चुनाव करते हैं, जिनसे अधिक मात्रा में दूध का उत्पादन हो सके. भारत में अधिक दूध उत्पादन के लिये गाय और भैंस को पालने का चलन है, जिसमें भैंस की मुर्रा नस्ल और गाय की गिर प्रजाति सबसे ज्यादा फेमस है. वैसे तो गाय की कई ऐसी किस्में है, जो दिन भर में 30 लीटर तक दूध देती हैं, लेकिन 50 लीटर तक देने का रिकॉर्ड सिर्फ गिर गाय के पास है. ऐसे में डेरी फार्मिंग करने वाले ज्यादातर पशु पालकों के लिये गिर गाय की पहली पसंद बन चुकी है.

गिर गाय की नस्ल है उत्तम

गिर गाय की स्वर्ण कपिला और देवमणी नस्ल की गाय सबसे अच्छी गाय मानी जाती हैं. स्वर्ण कपिला 20 लीटर दूध प्रतिदिन देती है इसके दूध में फैट सबसे अधिक 7% होता है. स्वदेशी पशुओं में गिर का नाम दूध देने में सबसे आगे आता है. इस गाय को क्षेत्रीय भाषाओं में कई अन्य नामों से जाना जाता है, जैसे- भोडली, देसन, गुराती और काठियावाड़ी आदि.

यह भी पढ़िए – अभी नहीं तो कभी नहीं सरिया सीमेंट के भाव में हुआ बड़ा बदलाव, नए भाव से होगा फायदा

गिर गाय का इस तरह रखे ध्यान

गाय के लिए शेड ऐसा होना चाहिए जिससे तेज बारिश, धूप, ठंड और परजीवी से आसानी से बचाव हो सके. शेड में पर्याप्त हवा की व्यवस्था होनी चाहिए. पशुओं की संख्या के अनुसार भोजन के लिए खुली जगह और पर्याप्त स्थान होना चाहिए. पशुओं का बाड़ा या शेड साफ सुधरा होना चाहिए. पशु के गोबर और मूत्र के निस्तारण की उचित व्यवस्था होनी चाहिए.

यह भी पढ़िए – नए अवतार में अपना परचम लहराने आ रही है नई Maruti Ertiga 2023, इन्नोवा की अब होंगी बत्ती गुल

गिर गाय को यह दिया जाता है पशु आहार

किसी भी गाय से बेहतर स्वास्थ्य और अच्छी क्वालिटी का दूध की उम्मीद तभी की जा सकती है, जब उसे अच्छी मात्रा में संतुलित आहार दिया जाये. ये मापदंड डेरी फार्मिंग से जुड़े हर पशु के ऊपर लागू होते हैं. ऐसे में सबसे ज्यादा दूध देने वाली गिर गाय को भी संतुलित पशु आहार खिलाने की कवायद की जाती है.

  • गिर गाय के लिये 100 किलोग्राम पशु आहार पहले से ही बनाकर रख लिया जाता है.
  • इसमें 10 किग्रा. बिनौला खली, 25 किग्रा. चना और मूंग की दाल का पाउडर, 40 किग्रा गेहूं और मक्का का दलिया, 22 किग्रा. सोयाबीन की दाल का पाउडर, 2 किग्रा दूसरे जरूरी खनिजों के साथ 1किग्रा नमक का प्रयोग किया जाता है.
  • इन सभी चीजों से बने पशु आहार में से रोजाना एक से डेढ़ किग्रा. आहार गिर गाय को चारे में मिलाकर खिलाना चाहिये.
  • गिर गाय की सेहत और दूध उत्पादन में सुधार के लिये 400 ग्राम बाटा प्रति लीटर देने की सलाह भी दी जाती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *