खाद के दामों में देखने मिली बड़ी गिरावट, देखिये DAP और UREA के सब्सिडी के साथ भाव

0
dap

खाद के दामों में देखने मिली बड़ी गिरावट, देखिये DAP और UREA के सब्सिडी के साथ भाव। भारत एक कृषि प्रधान देश है, यहां की अधिकांश जनसंख्या कृषि का कार्य से जुड़ी हुई है। देश के किसानों के हालात काफी कमजोर है। ऐसे में किसान अधिक पैदावार प्राप्त करने के लिए अत्यधिक मात्रा में रासायनिक उर्वरकों का प्रयोग करते है। रासायनिक उर्वरकों के अधिक इस्तेमाल से फसल और मिट्टी को नुकसान पहुंचता है, जिससे मिट्टी की उत्पादन क्षमता पर भी असर पड़ता है। इसके चलते कृषि वैज्ञानिकों द्वारा समय-समय पर किसानों को रासायनिक उर्वरकों से होने वाले नुक़सान के बारे में जानकारी दी जाती है और इनके सीमित मात्रा में इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है।

रबी की बुवाई में होती है सबसे ज्यादा खाद की जरूरत

किसानों को सबसे ज्यादा खाद की जरूरत अक्टूबर से नवंबर के माह में होती है क्योंकि इस माह में रवि की फसल के लिए किसानों को अनाज खेतों में बोना होता है और सभी किसान एक साथ अपनी बुवाई शुरू करते हैं इसके लिए बाजार से एक साथ खाद की बिक्री शुरू हो जाती है और विक्रेता इसका फायदा उठाते हैं और डीएपी और यूरिया खाद के दाम बढ़ा देते हैं इसलिए अगर आप एक किसान हैं और आप सस्ते दामों पर डीएपी और यूरिया प्राप्त करना चाहते हैं तो पहले से ही आपको डीएपी और यूरिया जैसे खाद को अपने पास एकत्रित करके रख लेना होगा जिससे आप समय पर अपनी खेती कर सके.

यह भी पढ़िए – 1 रूपये का यह खास नोट कर सकता है अपार धन की वर्षा, एक झटके में बना देगा मालमाल

अब तक सरकार ने दी है करोडो रूपये की सब्सिडी

सरकार ने सब्सिडी देकर किसानों का काफी बोझ कम कर दिया है। 2022 के खरीफ मौसम के लिए 60,939 करोड़ रुपए की सब्सिडी दी गई थी, जो इस वर्ष के खरीफ मौसम के दौरान लागू रहेगी।खाद में कालाबाजारी में बड़ते देख केंद्र सरकार द्वारा खाद की कीमत निश्चित कर दी गई है। यूरिया एवं अन्य उर्वरकों की कीमतों को लेकर सरकार ने किसानों को राहत दी है। भारतीय कंपनी इफको (IFFCO) ने इस खरीफ सीजन के लिए खाद और उर्वरकों की नई कीमतें जारी कि हैं.

यह भी पढ़िए – मात्र 35 हजार रुपये में घर ले आए Maruti की 32KM तक माइलेज देने वाली जबरदस्त कार, जानिए क्या है पूरी जानकारी

सब्सिडी के साथ खाद के भाव

सरकार द्वारा किसानों को खाद पर सब्सिडी दी जाती है अगर सब्सिडी नहीं दी जाती तो किसानों के लिए खाद खरीदना बहुत महंगा पड़ता। आज तो बिना खाद के कोई भी फसल का उत्पादन संभव नहीं है। सरकार द्वारा दी गई सब्सिडी पर IFFCO ने वर्ष 2023 के खरीफ सीजन के लिए रासायनिक उर्वरक का मूल्य जारी किया है | किसान निम्न लिखे दामों पर ही इस वर्ष अलग-अलग खाद खरीद सकते है।

UREA– 266.50 रुपए प्रति बैग (45 Kg)

DAP– 1,350 रुपए प्रति बैग (50kg)

NPK– 1,470 रुपए प्रति बैग (50kg)

MOP– 1,700 रुपए प्रति बैग (50kg)

बिना सब्सिडी के खाद के भाव

Urea- 2,450 रुपए प्रति बोरी ( 45kg )
NPK- 3,291 रुपए प्रति बोरी ( 50kg)
MOP- 2,654 रुपए प्रति बोरी ( 50kg )
DAP- 4,073 रूपये प्रति बोरी ( 50kg )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *