भारत में आज से बदलेंगे पेमेंट के तरीके आ गया है Digital Rupee, नहीं पड़ेगी कैश की जरूरत सिर्फ इन शहरो से होगी शुरुआत

0
Digital Rupee

Digital Rupee : आज 1 दिसंबर 2022 से भुगतान करने के तौर-तरीकों में एक नई चीज जुड़ रही है। अब जेब में कैश लेकर चलने की जरूरत रहेगी और न ही किसी थर्ड पार्टी ऐप द्वारा ऑनलाइन पेमेंट की कोई मजबूरी होगी। आज भारत का रिटेल डिजिटल रुपया (Digital Rupee) लॉन्च होने वाला है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने इसे पायलट प्रोजेक्ट के रूप में लॉन्च करने की घोषणा कर चुका है।

बता दें कि खुदरा डिजिटल रुपए से ग्राहक आपस में लेन-देन के साथ किसी भी दुकान से खरीदारी कर सकेंगे।  शुरुआत में इसे चार शहरों और चार बैंकों में लॉन्च किया जाएगा। वहीं, बाद में इसे नौ और शहरों में लाया जाएगा।

क्या है Digital Rupee?

– डिजिटल रुपया यानी ई-रुपया डिजिटल टोकन की तरह होगा।

– आरबीआई ने इसे सॉवरेन करंसी का दर्जा दिया है। इसकी वही वैल्यू होगी, जो पेपर करंसी की है।

– इसे पेपर करंसी और सिक्कों जैसे डिनॉमिनेशन में जारी किया जाएगा। बैंकों के जरिए इसे डिस्ट्रीब्यूट किया जाएगा।

– इसके जरिए कैशलेस पेमेंट होगा। कार्ड, कैश, डिजिटल पेमेंट ऐप की ज़रूरत नहीं पड़ेगी।

– इससे ट्रांजैक्शन मर्चेंट की लोकेशन पर डिस्प्ले होने वाले क्यूआर कोड के जरिए होगा।

– ई-रुपया यानी e₹-R का उपयोग एक डिजिटल वॉलेट के जरिए किया जा सकेगा। यह डिजिटल वॉलेट वही बैंक देंगे, जो ई-रुपया डिस्ट्रीब्यूट करेंगे। यूजर इसे अपने मोबाइल फोन और डिवाइसेज में स्टोर कर सकेंगे।

– ई-रुपये पर कोई इंटरेस्ट नहीं मिलेगा। हालांकि इसे बैंक डिपॉजिट की तरह कैश में बदला जा सकेगा। ई-रुपया स्टोर करने के लिए बैंक खाते की जरूरत नहीं होगी।

– RBI ने डिजिटल करंसी की दो कैटिगरी बनाई हैं- होलसेल और रिटेल।

– CBDC W को होलसेल करंसी के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकेगा।

– CBDC R का उपयोग होगा रिटेल करंसी के तौर पर।

यह भी पढ़िए – Ration Card : सरकार ने राशन कार्डधारियों को दी बड़ी खुशखबरी दिसंबर में मिलेगा यह भी राशन, कार्डधारी के मजे ही मजे

आरबीआई ने दिया CBDC का नाम (RBI gave the name of CBDC)

रिजर्व बैंक ने डिजिटल करेंसी को सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी (CBDC) का नाम दिया है. इससे देश को कैशलेस बनाने में भी काफी मदद मिलेगी. लेकिन आज हम आपको बताएंगे कि सरकार के इस कदम से क्या यूपीआई या फिर पेटीएम, गूगलपे और फोनपे जैसी सुविधाओं पर असर पड़ेगा।

कौन लोग CBDC का इस्तेमाल कर सकेंगे?(Who will be able to use CBDC?)

– पहली दिसंबर से शुरू हो रहे पॉयलट प्रोजेक्ट के तहत चुनिंदा लोकेशंस और बैंकों को कवर किया गया है। फिलहाल चुनिंदा कस्टमर्स और मर्चेंट्स का एक क्लोज्ड यूजर ग्रुप CBDC का उपयोग कर सकेगा।

– पायलट प्रोजेक्ट नई दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु और भुवनेश्वर में शुरू होगा। वहां कस्टमर और मर्चेंट डिजिटल रुपया यानी ई-रुपया (RBI e-rupee) का उपयोग कर सकेंगे।

– आगे चलकर लखनऊ, इंदौर, पटना, शिमला, अहमदाबाद, गुवाहाटी, गंगटोक और हैदराबाद जैसे शहरों में भी रिटेल यूजर्स के लिए डिजिटल रुपये की सुविधा दी जाएगी।

– अभी डिजिटल रुपये में लेनदेन से स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, ICICI बैंक, यस बैंक और IDFC फर्स्ट बैंक को ही जोड़ा गया है। बाद में बैंक ऑफ बड़ौदा, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, HDFC बैंक और कोटक महिंद्रा बैंक को भी इस पायलट प्रोजेक्ट से जोड़ा जाएगा।

E-Rupee के बड़े फायदे (E-Rupee Benefits)

  • डिजिटल अर्थव्यवस्था को मजबूत करने में होगा मददगार.
  • जेब में कैश रखने की नहीं पड़ेगी जरूरत.
  • मोबाइल वॉलेट की तरह गी पेमेंट करने की मिलेगी सुविधा.
  • डिजिट रुपया कौ बैंक मनी और कैश में आसानी से कन्वर्ट कर सकेंगे.
  • विदेशों में पैसे भेजने की लागत में आएगी कमी. 
  • बिना इंटरनेट के भी काम करेगा E-Rupee.
  • मौजूदा करेंसी के बराबर होगी ई-रूपी की वैल्यू.

यह भी पढ़िए – Bank Job : सहकारी बैंक में निकली है भर्ती,आवेदन प्रक्रिया हुई शुरू जल्द करे आवेदन

यह भी पढ़िए – World Aids Day : आज 1 दिसंबर को मनाया जाता है World Aids Day जानिए क्या है इसका इतिहास

यह भी पढ़िए – MP News : मध्यप्रदेश की महिला टीचर ने अपनी करोड़ो की सम्पति की हनुमान जी के नाम, जाने पूरी कहानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed