देखिये क्या अंतर होता है आर्मी कैंटीन की शराब में और दुकान वाली शराब में, अन्तर जान आप भी रह जायेंगे दंग

0
देखिये क्या अंतर होता है आर्मी कैंटीन की शराब में और दुकान वाली शराब में

देखिये क्या अंतर होता है आर्मी कैंटीन की शराब में और दुकान वाली शराब में, अन्तर जान आप भी रह जायेंगे दंग। आपको मार्केट में बहुत सी प्रकार की शराब देखने मिलती है जिनकी कीमत भी अलग अलग होती है। आज हम आपको आर्मी केंटीन की शराब और दुकान की शराब में अंतर बताने जा रहे है। शराब आज सबसे ज्यादा बिकने वाला पेय पदार्थ है। इस पेय पदार्थ के सब लोग दीवाने हो गए है।

यह भी पढ़िए – Oppo और VIVO को शानदार कैमरा क्वालिटी से क्लीन बोल्ड कर देंगा Oneplus का धांसू स्मार्टफोन, झन्नाट कैमरा क्वालिटी के आगे DSLR भी देंगा सलामी

लोगों का यह होता है कहना

लोग अक्सर चर्चा करते है की दुकान वाली शराब से आर्मी केंटीन वाली शराब कई गुना बेहतर होती है। आम शराब की दुकान में और आर्मी कैंटीन की में शराब की कीमतों में आपने अक्सर अंतर देखा होगा. इसी बीच कोई इसकी क्वालिटी को लेकर बाते करता है. तो, कोई और कारण बताता है. लोगों का कहना यह भी होता है कि आर्मी कैंटीन की शराब की क्वालिटी आम दुकानों की शराब से बेहतर होती है. तो आज हम आपको क्लियर बता देते है की दुकान की शराब और कैंटीन की शराब में क्या अंतर है।

ऐसी जाती है आर्मी कैंटीन में शराब

हर एक डिस्टलरी में विभिन्न प्रकार के ब्रेंड की शराब बनती है. यह शराब एक ही तरीके से बनाई जाती है. शराब बनाते वक्त यह नहीं देखा जाता कि यह शराब किसी आम आदमी के लिए बनानी है. या आर्मी सेक्टर के लिए. शराब तैयार होने के बाद यह शराब कई सेक्टरों में भेजी जाती है, जिसमें से एक सेक्टर आर्मी भी होता है. आर्मी सेक्टर में भी यही अल्कोहल (व्हिस्की) जाती है. हर किसी को एक जैसी अल्कोहल मिलती है.

यह भी पढ़िए – Creta का मजमा बिगाड़ने आ रही है नई Maruti Baleno, सुपर स्मार्ट फीचर्स और शानदार माइलेज से बनेंगी ऑटोसेक्टर की Queen

शराब के टैक्स में मिलती है छूट

आर्मी के अधिकारी केंद्र सरकार के अंतर्गत आते हैं और इन लोगों को काफी टैक्स पे करना होता है. जैसे कि सेंट्रल टैक्सेज, इनकम टैक्सेज, सर्विस टैक्सेज, वेट और इसके अलवा और भी कई तरीके के टैक्सेज पे करने होते हैं. वेट पे करने के अलावा हर राज्य में आर्मी कैंटीन के प्राइस में उतार चढ़ाव होता रहता है. उदहारण के लिए तमिलनाडु और गुजरात में 0% वेट लिया जाता है, जबकि पंजाब और हरियाणा में 4% वेट टैक्स लिया जाता है आर्मी कैंटीन से. कही-कही शराब की कीमत में 50% छूट भी मिल जाती है. तो ऐसा अंतर होता है दुकान वाली शराब में और आर्मी की कैंटीन वाली शराब में।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed