Gehu Varitey : गेहूं की यह उन्नत किस्म देंगी लपक पैदावार, किसान बन जायेंगे मालामाल

0
गेहूं की यह उन्नत किस्म देंगी लपक पैदावार, किसान बन जायेंगे मालामाल

Gehu Varitey : गेहूं की यह उन्नत किस्म देंगी लपक पैदावार, किसान बन जायेंगे मालामाल। किसानों की आज के समय की खेती में आपको पूरी तरह बदलाव देखने मिलता है। आजकल के किसान काफी समझदार हो गए है। वे लोग भी अब ऐसी फसल की बुवाई करते है जिसका उत्पादन अधिक होता है। आज हम किसानों को गेहूं की उन्नत किस्मों के बारे में बताने जा रहे है।

यह भी पढ़िए – Realme को अपनी रंगदारी बताने आ गया Moto का फाडू स्मार्टफोन, कैमरा क्वालिटी देख लड़कियाँ भी हो जायेंगी फ़िदा

वैज्ञानिकों ने 5 किस्मों को किया विकसित

आपको बता दे की सरकार लगातर किसानों के आय की वृद्धि के लिए काम कर रही है। अब किसानों के लिए गेहूं की खास किस्म विकसित की है। भारतीय गेहूं अनुसंधान संस्थान करनाल के वैज्ञानिकों ने गेहूं की पांच नई किस्में विकसित की हैं। गेहूं की नई किस्मों के तकनीकी विकास के लिए भारतीय गेहूं अनुसंधान संस्थान करनाल को राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है. नई दिल्ली में केंद्रीय पशुपालन एवं डेयरी मंत्री पुरुषोत्तम रुपाला ने ये पुरस्कार दिया है। यह किस्म किसान के लिए काफी अच्छी होंगी। भारतीय गेहूं अनुसंधान संस्थान करनाल के निदेशक डॉ. ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि इस वर्ष गेहूं की 5 नई किस्मों डीवीडब्ल्यू 370, 371, 372, 316 और डीबीडब्ल्यू 55 को लाइसेंसिंग के लिए बाजार में उतारा जाएगा।

DBW -327 उन्नत किस्म से होंगी अच्छी पैदावार

आपको बता दे की भारतीय गेहूं अनुसंधान संस्थान करनाल के निदेशक डॉ. ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि गेहूं की नई किस्म DBW 327 से किसानों की किस्मत बदलेगी। प्रति हेक्टेयर 80 क्विंटल तक उत्पादन मिलेगा। इस किस्म की किसान बुवाई कर तगड़ी कमाई कर सकता है।

बहुत ही अच्छी है यह गेहूं की किस्म

आपको बता दे की इस किस्म के बारे में सारी जानकारी निदेशक ने दी है। संस्थान के निदेशक डॉ. ज्ञानेंद्र सिंह के मुताबिक, उन्होंने गेहूं की नई किस्म DBW 327 को विकसित किया है, जो फसल विज्ञान तकनीकों की श्रेणी में सर्वोत्तम है। उनका कहना है की, DBW 327 किस्म में बीमारी का प्रकोप बिल्कुल नहीं होता और इसका उत्पादन 80 क्विंटल प्रति हेक्टेयर है। अगर एकड़ की बात करें तो अभी सामान्य गेंहू की किस्मों से 15 से 20 क्विंटल गेहूं की पैदावार होती है, लेकिन नई किस्‍म DBW 327 से किसान एक एकड़ में 30 से 35 क्विंटल गेहूं पैदा कर सकेंगे।

यह भी पढ़िए – Honda Activa का तख्ता पलट देंगा HERO का यह शानदार स्कूटर, स्मार्ट फीचर्स से मार्केट में चला रही जादू

कम बारिश में भी देती है अच्छी पैदावार

करनाल संस्थान के निदेशक डॉ. ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि गेहूं की नई किस्म DBW 327 पर विपरीत मौसम का भी फर्क नहीं पड़ता। जैसे अगर बारिश कम होती है, धूप ज्यादा है या फिर ठंड कम है तो उसमें भी इस गेहूं की किस्म की पैदावार कम नहीं होती। वहीं इसका फायदा अधिकतर हरियाणा, पंजाब , पश्चिमी उत्तर प्रदेश और दिल्ली के किसानों को होगा, क्योंकि यहां की जमीन इस बीज के लिए ठीक है। ये बीज हम किसानों को उपलब्ध करवाएंगे, जिसका फायदा किसानों को काफी होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed