मिर्ची की ये तीन किस्मो से खेती में किसान भाइयो को कम लागत में होगा अधिक मुनाफा

0

मिर्ची की ये तीन किस्मो से खेती में किसान भाइयो को कम लागत में होगा अधिक मुनाफा मिर्ची हमारे खाने का स्वाद बहुत ही ज्यादा बढ़ती है मिर्ची के बिना खाने में स्वाद ला पाना ही असंभव हो जाता है। मिर्ची की कुछ ऐसी किस्में हैं जो बहुत ही ज्यादा बेहतरीन मानी जाती है इनकी क़्वालिटी भी काफी अच्छी होती है

ये भी पढ़िए –Bajaj की ये ताबड़तोड़ फीचर्स वाली बाइक मार्केट में मचा रही है तांडव कम कीमत में देती है 80 kmpl का कंटाप माइलेज जानिए क्या है इसकी कीमत

जानिए पंजाब लाल किस्म की जबरदस्त मिर्ची के बारे में

इस किस्म गहरी हरी पत्तियों वाली मिर्च आकार में बोनी और रंग में लाल होती है। ये मिर्च दिखने में काफी खूबसूरत भी होती है इसकी फसल पकने में लगभग 120 से 150 दिन लग जाते हैं। इनकी पैदावार भी काफी अच्छी होती है जिस कारण बाजार में इनकी मांग काफी ज्यादा होती है। प्रति हेक्टेयर 100 से 120 क्विंटल मिर्च की पैदावार होती है, जो सूखने पर 10 से 12 क्विंटल तक हो जाती है।

जानिए नई क्वालिटी की जाहवार मिर्ची 148 के बारे में

इस किस्म की मिर्ची काफी जल्द पक जाती है, जो कि कम तीखी मिर्च होती है। इसे लोग सीधे खाने के लिए उपयोग करते हैं। इसमें कुर्करा रोग का प्रकोप कम होता है जिससे इसमें खर्चा भी काफी कम आता है। इसकी हरी मिर्च लगभग 100 से 110 दिन में तैयार हो जाती है, और वहीं लाल लगभग 120 से 130 दिन तैयार होती है। इससे प्रति हेक्टेयर लगभग 80 से 100 क्विंटल हरी और लगभग 18 से 20 क्विंटल सूखी मिर्च प्राप्त हो जाती है जिससे मुनाफा काफी अच्छा होता है।

ये भी पढ़िए-Realme का स्मार्टफोन अपने तगड़े फीचर्स से और धासु कैमरा क्वालिटी से IPhone की धज्जिया मचा देंगा

काशी तेज (CCH-4) F1 के बारे में जानिए

इस मिर्च की फसल बहुत जल्दी लगभग 30 से 40 दिनों में ही तोड़ने लायक हो जाती है। जिसे आप बेकार इससे अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं। स्वाद में ये बहुत तीखी होती है। इससे एक हेक्टेयर में उत्पादन बड़े आराम से लगभग 130 से 140 क्विंटल तक हो जाता है। जिससे किसानों को कम समय में ही बहुत ज्यादा फायदा होता है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed