Sarkar Yojana : किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी सरकार गेंदे के फूल की खेती करने वाले किसान को दे रही है 28 हजार रूपये

0
गेंदे की खेती

Sarkar Yojana : सरकार किसानों के लिए बहुत सी नई योजना ला रही है। जिससे किसानों को फायदा होता है। खेती-किसानी में कई बदलाव आ चुके हैं. किसान भाई अब अपनी मुख्य फसल को छोड़ दूसरी लाभदायक फसलों की ओर रुख कर रहे है. गेंदे का फूल भी कुछ इसी तरह की फसल है. बिहार सरकार ने इसकी खेती करने वाले किसानों को 70 प्रतिशत सब्सिडी देने का फैसला किया है.

यह भी पढ़िए – Royal Enfiled का कारोबार ठप करने आ रही है नए अट्रैक्टिव लुक में Yamaha RD350, दमदार इंजन के साथ मार्केट में मचायेंगी कहर

गेंदे के फूल की खेती के लिए सरकार दे रही है सब्सिडी

आपको बता दे की बिहार सरकार एकीकृत बागवानी विकास मिशन योजना के तहत गेंदा फूल की खेती करने के लिए 70% अनुदान दे रही है. सरकार ने प्रति हेक्टेयर गेंदे के फूल की लागत 40 हजार रुपये रखी है. ऐसे में 70 फीसदी की सब्सिडी के हिसाब से किसानों को गेंदे के फूल की खेती पर 28 हजार रुपये मिलेंगे. इस योजना का लाभ लेने के लिए किसान http://horticulture.bihar.gov.in पर आवेदन कर सकते है.

सिर्फ 2 महीने में हो जाती है फसल तैयार

गेंदे की फसल बहुत कम समय में तैयार हो जाती है। गेंदे के फूल की खेती की सबसे खास बात है कि ये 45 से 60 दिनों के अंदर इसकी फसल तुड़ाई के लिए तैयार हो जाती है. इसके अलावा इसे बारहमासी पौधा भी माना जाता है. सालभर में किसान तीन बार इसकी खेती कर सकते हैं. इसके अलावा हर शुभ त्योहारों में उपयोग होने की वजह से इसकी मांग भी बनी रहती है. बहुत जल्द ही आपको गेंदे के फुल मार्केट में देखने मिल जायेंगे।

यह भी पढ़िए – Creta को सात समुन्दर पार पहुँचा देंगी नई Citroen C3 Aircross, दमदार इंजन के साथ मिलते है झन्नाट फीचर

इस फसल से कर सकते है तगड़ी कमाई

किसान अब ऐसी फसल की बुवाई करते है जिससे की फसल से अच्छी कमाई कर सकते है। विशेषज्ञों के अनुसार एक एकड़ में गेंदे की खेती में सिंचाई, गुड़ाई और निड़ाई के साथ तकरीबन 40 हजार की लागत में 2 से 4 लाख रुपये तक मुनाफा कमा लेते हैं. ऐसे में लघु और सीमांत किसानों के लिए पारंपरिक फसलों के मुकाबले बढ़िया विकल्प साबित हो सकता है.

बहुत ही फायदेमंद है गेंदे का पौधा

गेंदे के फूल की पत्तियों में औषधीय गुण समाहित होते हैं, ऐसे में इसे पशुओं के द्वारा खराब भी नहीं किया जाता है. साथ ही इनके पौधों पर लाल मकड़ी के अलावा कोई कीट भी नहीं लगता है. ऐसे में अन्य फसलों के मुकाबले इसके रख-रखाव में कोई दिक्कत नहीं होती है. इसके पौधे लगाने से मिट्टी के अंदर लगने वाली कई बीमारियां भी दूर हो जाती हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed