Kisan Yojana : सरकार की इस योजना में किसानो के बिल होंगे माफ़, योजना का लाभ लेने के लिए यहां करे आवेदन

0

Kisan Yojana : खेती के लिए किसानों को बड़े पैमाने पर बिजली का इस्तेमाल करना पड़ता है. जिस कारण किसानों का बिजली का बिल ज्यादा आता है. केंद्र और राज्य सरकार की ओर से किसानों को मदद करने के प्रयास किए जा रहे हैं. इसके लिए सरकार की ओर से कई योजनाएं चलाई जा रही हैं. ऐसी ही एक योजना राजस्थान सरकार भी चला रही है. इस योजना से राज्य के कृषि उपभोक्ताओं को प्रतिमाह बिजली बिल से राहत दी जा रही है. इस योजना के माध्यम से सरकार प्रदेश के किसानों को बिजली के बिलों पर प्रतिमाह 1,000 रुपए की सब्सिडी दे रही है. 

आंकड़ों के मुताबिक इस सब्सिडी योजना से 7 लाख 85 हजार किसानों के बिजली बिल जीरो हो चुके हैं. राज्य सरकार के मुताबिक राजस्थान के 50 फीसदी से ज्यादा किसानों को फ्री में बिजली मिल रही है. इस योजना की शुरुआत 17 जुलाई 2021 को की गई थी.

जान लीजिए किसान मित्र ऊर्जा योजना के बारे में

राजस्थान सरकार ने प्रदेश के आर्थिक रूप से कमजोर किसानों के लिए इस स्‍कीम को शुरू किया है. इसके तहत किसानों को बिजली के बिलों पर सब्सिडी दी जाएगी. मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के जरिए किसानों को बिजली के बिल से राहत मिलेगी. राज्य सरकार इस योजना के तहत किसानों को हर माह 1000 रुपये यानी 1 साल में 12,000 रुपये की सब्सिडी देगी.

यह भी पढ़िए – Milk Rate : आम जनता को लगा बड़ा झटका दूध के दाम में की गयी बढ़ोतरी, देखिये नए दाम

सरकार क्‍या चाहती है इस योजना का लागू करके? 

राजस्थान की गहलोत सरकार ने 4.88 लाख कृषि कनेक्शन जारी करने का लक्ष्‍य रखा है. जिसे टारगेट के मुताबिक 2 सालों में पूरा करना है. इसके अलावा राज्य के किसानों को सोलर पंपों का इस्तेमाल करने के लिए प्रोत्साहित करना है. किसान पीएम कुसुम योजना के तहत आवेदन कर सकते हैं. इस स्‍कीम के अंर्तगत किसानों को सोलर पंप खरीदने के लिए 60 फीसदी की सब्सिडी दी जाती है. इस योजना का फायदा उठाने के लिए किसान पीएम कुसुम योजना की वेबसाइट पर आवेदन कर सकते हैं.

कौन कर सकते हैं आवेदन

इस योजना के माध्यम से बिजली बिल पर सब्सिडी का फायदा लेने के लिए आपको राजस्थान का मूल निवासी होना जरुरी है. वो किसान जो इनकम टैक्स नहीं देते हैं और केंद्र व राज्य सरकार के कर्मचारी नहीं हैं, सब इस योजना में एप्लाई कर सकते हैं. इसके लिए किसानों को योजना में रजिस्ट्रेशन करना होगा. और अपने आधार और बैंक अकाउंट को स्कीम से लिंक करना होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed