Chandra Grahan : चंद्र ग्रहण पर करना होगा यह जरूरी काम नहीं तो हो सकती है बड़ी परेशानी,देखिये

0

Chandra Grahan : ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ग्रहण को अशुभ माना जाता है। इसलिए इस दौरान किसी भी प्रकार के शुभ और मांगलिक कार्य करना वर्जित है। इस दिन मंदिरों में पूजा करना भी मना है। लेकिन ग्रहण के दौरान एक जगह बैठकर, भगवान का स्मरण और मंत्रों का जाप करने से कई गुना अधिक फल प्राप्त होते हैं। वहीं इस दौरान शास्त्रों में कई ऐसी बातें बताई गई हैं, जिनसे परहेज किया जाता है.

यह भी पढ़िए – Tirupati Temple : भारत के विश्व प्रशिद्ध बालाजी मंदिर की संपत्ति सुन आप भी रह जायेंगे दंग, देखिये कितनी है संपत्ति

चंद्र ग्रहण का सूतक काल 9 घंटे पहले शुरू हो जाता है। ऐसे में ज्योतिष शास्त्र में ग्रहण के साथ-साथ सूतक काल में भी बहुत से काम न करने की सलाह दी गई है। अगर इस दौरान जरा सी भी लापरवाही हुई तो व्यक्ति को लेने के लिए देना पड़ सकता है। कल 8 नवंबर को साल का आखिरी चंद्र ग्रहण पूर्णिमा तिथि को लगने जा रहा है. इसका सूतक सुबह से ही शुरू होकर ग्रहण खत्म होने तक रहेगा। आइए जानते हैं सूतक के दौरान कौन से काम नहीं करने चाहिए।

ग्रहण के दौरान क्या करें

1- खगरा चंद्र ग्रहण के दौरान पूजा, दान और जप आदि का विशेष महत्व होता है. इस दिन पवित्र नदियों या सरोवरों में स्नान करना लाभकारी होता है। मंत्रों का जाप किया जाता है। इस समय मंत्र जाप से शीघ्र सिद्धि प्राप्त होती है।

2- इस दौरान धर्म से जुड़े लोगों को अपनी राशि के अनुसार या किसी योग्य ब्राह्मण से सलाह लेकर दान करना चाहिए। इस दिन गरीबों और जरूरतमंदों की ज्यादा से ज्यादा मदद करनी चाहिए।

सूतक में न करें ये काम

1- ज्योतिष शास्त्र में कहा गया है कि ग्रहण के समय या सूतक के समय भूलकर भी भगवान की मूर्ति को नहीं छूना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed